जरा याद करो कुर्वानी ३ साल पूरा सपना अधुरा

२०७५/०५/२३

रवि कुमार साह,

क्या आपको पता है आज कौन दिन है? जरा याद करिए आज हि के दिन आज से ३ साल पहले मधेश आन्दोलन चल रहा था। चारो ओर बन्द हडताल था। मधेसी लोग अपने अधिकार के लिये नेपाली खसवादी सरकार से लड रहे अपनी हक अधिकार को संविधान मे लिखने के लिये शान्तिपुर्ण आन्दोलन कर रहे थे लेकिन ये नेपाली शासको ने जुर्म पे जुर्म कर रहे थे इसी युद्ध के दौरान जलेश्वर मे संग्राम छिरा था और जनता खाली हाथ और ए शासक वर्ग बन्दुक लेकर हमारे चार मधेसी वीर पुत्रो को निर्ममताके साथ हत्या कर दिया। चार वीर सपुतो ने शहादत प्राप्त कि।जिनने रामविवेक यादब , अ्मित कापर, रोहन चौधरी और बिरेन्द्र बिच्छा जि थे।

इससे ठिक एक दिन पहले(२०७२/०५/२२) कि घटना थि मेरे लगायत मेरे २५ मित्रो जिसमे सहिद रामविवेक भी थे हम २५ लोग लाठी जुलुस निकाले थे । और ये जुलुस महोत्तरीसे शुरु होकर फुलहट्टा होते हुए जलेश्वर नगर को परिक्रमा करके जिल्ला प्रशासन कार्यालय महोत्तरी जलेश्वर होकर जा रहे थे वहाँ पुलिसो से कुछ कहासुनी हुइ जिसमे पुलिसो ने लाठी रख कर जाने को कहा हम लोग नही मान रहे थे लेकिन हमारी संख्या कम होने से हम लोग लाठी वही रख दिये उसी दौरान रामविवेक को पुलिसोने सायद टारगेट किया क्यु कि हमारी अगुवाइ वोहि कर रहे थे।

आज ३ साल हो गये मधेस आन्दोलन को मगर अभी तक कोइ सुनवाइ नहि है संविधान संशोधन का।

चारो वीर सहिद को

🌹🌹🌹🌹हार्दिक श्रद्धाञ्जली 🌹🌹🌹🌹

Advertisements